Gurudev Shree Roopchandji Marasahebji

Gurudev Shree Roopchandji Marasahebji

 

लोक्मान्य संत , शेरे राजस्थान , वरिष्ठ प्रवर्तक

पुज्य गुरुदेव श्री रूपचंदजी म.सा. “रजत”

 

roopchandji m.

जन्म : वि.सं. १९५८ , श्रावण शुक्ल १० , जन्म स्थल : नाडोल (राजस्थान)

जन्म नाम : रूपचंद , वंश : गोस्वामी वंश

पिता : श्री भेरूपुरीजी चौहान , माता : श्रीमती मोतीबाई

दीक्षा :  वि.सं १९९९ , माघ शुक्ल १३ , स्थल : सुर्यनगरी जोधपुर,

नामकरण : मु. श्री रूपचंदजी म.सा. ,

प्रदाता गुरु : पू. कविवर्य श्री मोतीलालजी म.सा. , शिक्षा गुरु : श्रमण सुर्य , मरुधर केसरी , प्रवर्तक श्री मिश्रीमलजी म.सा. ,

तप : राणावास में ४३ वर्ष पूर्व गुरुदेव की निश्रा में मौन ५५ उपवास कर “तपोपूत” कहलाए |

प्रेरणा : आपकी प्रेरणा से १६५ से अधीक गौशालाओ का निर्माण हुआ | आपकी वाणी के प्रभाव से २५ जगहों पर पशुबलि बंद हुई , जिससे गोवंश को अभयदान प्राप्त हुआ |