श्री कल्पद्रुम पार्श्वनाथ

श्री कल्पद्रुम पार्श्वनाथ – मथुरा

 

उत्तर प्रदेश प्रांत के मथुरा शहर में श्री कल्पद्रुम पार्श्वनाथ का मनोहर जिनालय है| प्रतिमाजी श्वेतवर्णीय २३ इंच ऊँचे और २१ इंच चौड़े है|

यमुना तट पर आया हुआ यह शहर अत्यंत प्राचीन है| प्राचीन काल में इस नगरी का नाम इंद्रपुर था| जंबू स्वामी का निर्वाण इसी नगरी में हुआ था|

१४वीं सदी तक यहाँ श्री कल्पद्रुम पार्श्वनाथ का मंदिर था| कुबेर सेना गणिका ने इस मंदिर का निर्माण कराया था| बप्पभट्टीसूरीजी के उपदेश से आमराजा ने इस मंदिर का जिणोरद्वार कराया था| मोहम्मद गोरी के आक्रमण समय इस प्रासाद का ध्वंस हो गया था, उस समय प्रतिमा की रक्षा के लिए प्रतिमाजी को भूगर्भ में छिपा दी थी|

उसके वर्षो बाद खुदाई करने पर यह प्रतिमा प्राप्त हुई|

मथुरा मंडन ये पार्श्वनाथ प्रभु मथुरा पार्श्वनाथ के नाम से भी पहिचाने जाते है|