श्री भाभा पार्श्वनाथ

श्री भाभा पार्श्वनाथ – जामनगर

 

जामनगर में चौरिवाले मंदिर में श्याम वर्णीय वेलु से निर्मित, ४७ इंच ऊँचे व ४० इंच चौड़े भाभा पार्श्वनाथ प्रभु बिराजमान है|

वि.सं. १६७८ वैशाख सुदी ८ के शुभ दिन अचलगच्छ के आचार्य श्री कल्याणसागरसूरीजी के वरद हस्तों से प्रभुजी की प्रतिष्ठा संपन्न हुई थी|

उत्तर गुजरात व सौराष्ट्र में ज्येष्ठ को “भा” शब्द से संबोधित करते है उसी संबोधन को डबल करने के कारण प्रभुजी को “भाभा” पार्श्वनाथ से संबोधित किया गया|