श्री अमृतझरा पार्श्वनाथ

श्री अमृतझरा पार्श्वनाथ – भाणवड गाँव

 

जामनगर जिले में जाम भाणवड गाँव में अमृतझरा पार्श्वनाथ का शिखरबद्ध जिनालय है| फणा रहित प्रतिमाजी १८ इंच ऊँचे और १४ इंच चौड़े है| चांपशी क्षेष्टि ने पार्श्वनाथ प्रभु के भव्य जिनालय का निर्माण कराया था|

वि.सं. १६६२ फाल्गुन सूद २ के दिन श्री जिनराजसूरीजी के वरद हस्तो से अमृतझरा पार्श्वनाथ की प्रतिष्ठा विधि संपन्न हुई थी|

जिनराजसूरीजी विचरित स्तवन में “अमृतझरा” नाम की गुणनिश्पन्नता बताते हुए कहा है –

पर तरिव पास अमिझरइ, भेटीएजी भवियण भावे रे,

रात दिवस अमृत झरे, तिन साचो नाम कहावे रे|

प्रभु प्रतिमा में से होने वाले अमी झरने के कारण ये प्रभु अमृतझारा कहलाते है|