श्री सूरजमंडन पार्श्वनाथ – सूरत

श्री सूरजमंडन पार्श्वनाथ – सूरत

 

सूरत शहर के गोपीपुरा विभाग में ” हाथीवाला जिनालय” के नाम से प्रख्यात श्री धर्मनाथजी के मंदिर में भोयारे में श्री सूरज मंडन पार्श्वनाथ प्रभु बिराजमान है|

सम्राट अकबर के जीवन-परिवर्तन में महत्त्व का भाग भजनेवाले श्री शान्तिचन्द्र उपाध्याय के शिष्य रत्नचन्द्र गणी के वरद हस्तो से संवत् १६७९ कार्तिक वदी ५ के शुभ दिन गुरूवार को पुनवर्स नक्षत्र में इस प्रतिमा की प्रतिष्ठा संपन्न हुई है|

इस प्रतिमा के अलौकिक रूप और लोकोत्तर प्रभाव को देखकर अहमदाबाद निवासी श्री शांतिदास सतत ने इसी प्रभु प्रतिमा के सामने “चिंतामणी मंत्र” की आराधना संपन्न की थी|

नौ फनो युक्त यह प्रतिमा ६१ इंच ऊँची है, जिनके दर्शन-वंदन व पूजन से आत्मानंद हुए बिना नहीं रहती है|