प्रतिष्ठा महोत्सव में समस्या आई तो स्वयं के खर्चे से १० शौचालय बनाकर भेंट कर दिये

सांचौर/गोडवाड ज्योति  : क्षेत्र के दांतिया गांव में सार्वजनिक व धार्मिक कार्यक्रम के दोरान लोग खुले में शौच नहीं जाये, जिसके लिये ग्राम पंचायत की महिला सरपंच ने पहल करते हुए स्वयं के खर्चे से १० शौचालयो का निर्माण करवाकर मिशाल कायम की है। दांतिया गांव में १३ मई को गोगाजी मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा थीा। इस दौरान राज्य के अतिरिक्त गुजरात से भी बड़ी स2या में श्रद्धालुओ ने हिस्सा लिया। इस दौरान लोगो की तादाद ज्यादा होने की वजह में शौचालयो की सुविधा नहीं होने से परेशानी हो रही थी। जिस पर ग्रामीणो के आग्रह पर सरपंच भगवत कंवर समाजसेवी महावीरसिंह ने पहल करते हुए स्वयं के खर्चे से १० शौचालय बनाकर भेंट कर दिये। वहीं स्वच्छता को देखते हुए ३० बायो टॉयलेट भी लगाये गये। उनके द्वारा निर्मित टॉयलेट में दो वेस्टन और स्नान के थे।

दांतिया ग्राम पंचायत ओडीएफ ग्राम पंचायत है - जिले की प्रथम ओडिएफ ग्राम पंचायत दांतिया ग्राम पंचायत है। जिसके तहत सरपंच भगवत कंवर महावीर सिंह दांतिया ने सक्रियता से कार्य कर ग्राम पंचायत को जिले में प्रथम ओडिएफ ग्राम पंचायत घोषित करवाया गया। महावीरसिंह ने पूर्व में भी कश्मीर में शहिद सैनिको के परिवारो को एक- एक लाख रूपये की आर्थिक सहायता भी दी थी।

इनका कहना है -
ग्राम पंचायत को स्वच्छ व सुन्दर बनाये रखना मेरी पहली प्राथमिकता है। प्रतिष्ठा महोत्स के दौरान मैंने ग्रामीणो की मांग पर निजी खर्चे से १० शौचालय बनवाकर भेंट किये है। वहीं दांतिया ग्राम पंचायत ओडिएफ घोषित है। जिले की प्रथम ओडिएफ ग्राम पंचायत के रूप में स्वच्छता के क्षेत्र में अग्रणाी ग्राम पंचायत के रूप में स्थापित है। ग्रामीणो द्वारा किसी प्रकार की मांग पर सेवार्थ के कार्य तत्परता से किये जाते है।